अंतरिक्ष अन्वेषण में हमारी सफलताओं को गहरे समुद्र के नए सीमांत में दिखाया जाना चाहिए: पीएम मोदी

बेंगालुरू: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि अंतरिक्ष अन्वेषण में भारत की सफलता अबगहरे समुद्र के नए मोर्चे में प्रतिबिंबितहोनीचाहिए।

प्रधान मंत्री मोदी ने यहां संबोधित करते हुए कहा, “अंतरिक्ष की खोज में हमारी सफलता अब गहरे समुद्र के नए सीमांत में प्रतिबिंबित होनीचाहिए। हमें पानी, ऊर्जा, भोजन और खनिजों के विशाल समुद्री संसाधनों का पता लगाने, नक्शे और जिम्मेदारी से दोहन करने की आवश्यकताहै।भारतीय विज्ञान कांग्रेस का 107 वां सत्र को सम्बोधित करते हुए कहाँ।

उन्होंने कहा, “हम विज्ञान से जानते हैं कि संभावित ऊर्जा, ऊर्जा का मौन रूप, गति के गतिज ऊर्जा में इसके रूपांतरण से पहाड़ों को स्थानांतरितकर सकता है। क्या हम गति में विज्ञान का निर्माण कर सकते हैं?”

प्रधान मंत्री ने यह भी उल्लेख किया कि भारत कोटिकाऊ और पर्यावरण के अनुकूल परिवहन के लिए एक दीर्घकालिक रोडमैप विकसित करनाहोगा।

एक और महत्वपूर्ण बात जो मैं करना चाहता हूं, वह यह है कि हमारे लोगों में निदान में प्रगति के फल लाने के लिए चिकित्सा उपकरणों मेंमेकइन इंडियाका महत्व है। महात्मा गांधी ने एक बार कहा था, ‘यह स्वास्थ्य है जो वास्तविक धन है, कि सोने और चांदी के टुकड़े‘, “प्रधानमंत्री नेकहा।

उन्होंने कहा कि अच्छी तरह से बढ़ावा देने के लिए, हमें केवल परीक्षण किए गए कुछ पारंपरिक ज्ञान का अभ्यास करना चाहिए, बल्किसमकालीन बायोमेडिकल रिसर्च के आधुनिक उपकरणों और अवधारणाओं को पेश करके इसके दायरे को लगातार बढ़ाना चाहिए।

हमारी दृष्टि लोगों को निपा और इबोला जैसी खतरनाक संचारी रोगों के खतरों से बचाने के लिए होनी चाहिए। हमें 2025 तक टीबी उन्मूलन केवादे को पूरा करने के लिए समय से पहले काम करना चाहिए। विश्व स्तर पर, भारत टीकों की आपूर्ति में अग्रणी है। हम विकास करना चाहते हैं।2024 तक भारत एक विश्व स्तरीय 100 बिलियन डॉलर जैव विनिर्माण केंद्र के रूप में है। यह नवीन अनुसंधान, मानव संसाधन विकास और उद्यमके लिए सही नीतिगत पहल और समर्थन के साथ होगा, “मोदी ने कहा।

युवा वैज्ञानिकों के लिए एक संदेश में, प्रधान मंत्री मोदी ने कहा, “इस देश में युवा वैज्ञानिकों के लिए मेरा आदर्श वाक्य रहा है – ‘इनोवेट, पेटेंट, प्रोड्यूस और प्रॉस्पर ये चार कदम हमारे देश को तेजी से विकास की ओर ले जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *